Tuesday, July 26, 2011

Evnironment Consciousness - Plantation (Hindi Version)

कविता के माध्यम से अपने विचार व्यक्त करने जा रहा हूँ ,
कृपया ध्यान दें मैं वृक्षारोपण के महत्व समझा रहा हूँ।
इस हेतु मेरी है आप सभी से प्रार्थना,
अपने जीवन में अधिकाधिक वृक्ष लगाना॥

दूषित किया मनुष्य ने वातावरण,
जो बना उसके ही नाश का कारण।
वृक्षों की कटाई से बढ़ रहा प्रदूषण,
आज की आवश्यकता है वृक्षारोपण॥

करना चाहते थे प्रगति,
कर ली स्वयं की दुर्गति।
देख कर मनुष्य की अति,
आज रोती है प्रकृति॥

अगर बचानी है इश्वर की सर्वश्रेष्ट कृति,
जिसे हम कहते है वसुंधरा और धरती।
कम करनी होगी वृक्षों के कटने की गति,
जिसके लिए आवश्यक है जन जागृति॥

बहुत कर चुका मनुष्य भोग-विलास,
चकित हैं अन्य प्राणी देखकर ये विनाश।
पर अब होना होगा हमें ये आभास,
वृक्षों का कटाव अर्थात जीवन का सर्वनाश॥

अब करना है हमें वृक्षों का सम्मान,
चलाने होंगे वन-महोत्सव जैसे अभियान।
जिससे प्रकृति होगी शोभामयान,
होगा सभी प्राणियों का कल्याण ॥

अपने हाथों किया अपना सर्वनाश,
रो रहें है आज जग और आकाश।
वृक्षों के अभाव में पड़ते हैं अकाल ,
सभी प्राणियों का होता बुरा हाल॥

अपनानी होगी वृक्षारोपण की नीति,
तभी होगी हमारे आवश्यकताओं की पूर्ति।
संपूर्ण विश्व में फैलेगी भारतवर्ष की कीर्ति,
बढ़ेगी देश की प्राकृतिक संपदा व संपत्ति॥

No comments:

Post a Comment